कोर्स का कैटलॉग

ऑनलाइन ट्रेनिंग

कोर्स के कैटलॉग पर जाएं



इनसाइट

यदि आसान शब्दों में कहें तो इनसाइट का मतलब मन की बात समझने की शक्ति से है। इनसाइट का एक ज्वलंत उदाहरण है कार्टून में हम सभी से परिचित कहानी का वह भाग, जब कार्टून में के एक कैरेक्टर को वर्तमान स्थिति से बाहर निकलने का रास्ता नहीं मिल पाता, लेकिन तब उसी समय उसके सिर के ऊपर एक रोशनी का बल्ब जलता है। इसका मतलब यह होता है कि कार्टून का वह कैरेक्टर समाधान के लिए सोचने में कामयाब रहा, उसने इनसाइट को पकड़ लिया, इसका मतलब है की ज़रूरी विचारों को जनरेट करने में सक्षम रहा।

विचार को अक्सर इनसाइट के समानार्थक शब्द के रूप में माना जाता है, लेकिन यह पूरी तरह से सच नहीं है। इनसाइट की ख़ासियत इसकी व्याख्या की बहुमुखी प्रतिभा में निहित है। यही कारण है कि मानवीय गतिविधि के अन्य क्षेत्रों के लिए इसका क्या अर्थ है, यह प्रश्न अत्यंत कठिन है। आखिरकार, बिजनेस, मैनेजमेंट, मार्केटिंग और यहां तक ​​कि मनोविज्ञान (psychology) भी अंतर्दृष्टि की अपनी परिभाषा देते हैं।

मनोविज्ञान में इनसाइट

मनोविज्ञान में इनसाइट

शुरुआत से ही इनसाइट का कॉन्सेप्ट मनोविज्ञान के क्षेत्र से जुड़ा हुआ है। इनसाइट के द्वारा अचानक से सामने आई पहेली को समझा जाता है, जो पूरी तरह से समस्या की नई समझ की ओर ले जाती है। इस शब्द का प्रयोग सबसे पहले वोल्फगैंग कोहलर ने गेस्टाल्ट मनोविज्ञान में किया था। गेस्टाल्ट मनोविज्ञान — मनोविज्ञान की एक ब्रांच है जिसमें मेन रूप से समझने की घटना (phenomena) की व्याख्या की जाती है।

इनसाइट की घटना को स्पष्ट और सरल भाषा में समझने के लिए, कोहलर ने बंदरों के साथ प्रयोग किया। इनमें से सबसे प्रसिद्ध प्रयोगों में से एक है — बॉक्स और केले का प्रयोग। प्रयोग की शर्तों के अनुसार, बंदरों को केले प्राप्त करने थे जो एक पेड़ पर इतना ऊंचा लटका हुआ था, कि बंदर केवल खुद से ऊंची छलांग लगाकर केले प्राप्त नहीं कर सकते थे, उन्हें अपने पैरों के नीचे बॉक्स को रखने की जरूरत थी।

कुछ समय तक बंदर इस समस्या का समाधान नहीं कर पाए, बिना समझे कि केले तक कैसे पहुंचे, वे बस केले के लिए कूद पड़ते। लेकिन फिर बंदर रुक गए, उन्होंने इधर-उधर देखा और फिर मददगार बॉक्स को देखा। बंदरों के मामले में समस्या का ऐसा समाधान ढूँढने का मतलब था इनसाइट को पकड़ना। 

तो, मनोविज्ञान में इनसाइट क्या होता है? कोहलर के अनुसार इनसाइट का कॉन्सेप्ट — यह एक "ओह-प्रतिक्रिया" है, एक जल्दी से मन की बात समझने की शक्ति से है, जो आपको स्थिति को अधिक व्यापक रूप से देखने और मौजूदा समस्या का एक अलग, अप्रत्याशित समाधान खोजने की अनुमति देती है। हालांकि, रोजमर्रा की जिंदगी में, इसे किसी घटना या प्रक्रिया की आंतरिक संरचना की अचानक और तात्कालिक समझ के रूप में समझा जाता है। उदाहरण के लिए, मनोचिकित्सा में, इनसाइट का मतलब है कि रोगी अपनी अवधारणात्मक गड़बड़ी के उद्देश्य और व्यक्तिपरक प्रकृति से स्पष्ट रूप से अवगत है। रोगी समझता है कि उसकी कुछ अवास्तविक भावनाएँ वस्तुनिष्ठ तौर पर मौजूदा बीमारी के कारण उत्पन्न होती हैं। वर्तमान में अंतर्दृष्टि शब्द का प्रयोग न केवल मनोविज्ञान और मनोरोग में, बल्कि कई अन्य क्षेत्रों में भी किया जाता है।

मार्केटिंग में इनसाइट

मार्केटिंग में इनसाइट

मार्केटिंग में इनसाइट क्या है? मनोवैज्ञानिक, अंतर्दृष्टि को किसी समस्या की स्थिति के सारांश की अचानक समझ के रूप में समझते हैं, और मार्केटर्स इसे उपभोक्ता, उनकी जरूरतों और उनकी इच्छाओं के अध्ययन के दौरान प्राप्त जानकारी के रूप में समझते हैं। यही कारण है कि उपभोक्ता इनसाइट(कंज्यूमर इनसाइट) शब्द का प्रयोग अक्सर मार्केटिंग में किया जाता है।

मार्केटिंग में उपभोक्ता इनसाइट — एक ऐसा गुप्त मकसद होता है, जो प्रोडक्ट खरीदते समय उपभोक्ता का मार्गदर्शन करता है। मार्केटिंग रिसर्च के दौरान ऐसे मकसद को खोजा जा सकता है। सीधे शब्दों में कहें तो मार्केटिंग में, उपभोक्ता इनसाइट (कंज्यूमर इनसाइट) — यह मार्केटर्स के लिए कंपनी की पेशकश को प्रतिस्पर्धियों से अलग करने का एक प्रभावी उपकरण होता है।

इस तथ्य के बावजूद कि मार्केटिंग में "इनसाइट" शब्द का मतलब, मनोविज्ञान में इसके मतलब की तुलना में पूरी तरह से अलग होता है, इसकी विशेषता समान ही होती है — यानी कि, किसी विशिष्ट समस्या का अप्रत्याशित और प्रभावी समाधान ढूँढना केवल मार्केटिंग के संदर्भ में, समाधान और समस्या दोनों का सीधा संबंध उपभोक्ता और ब्रांड की सफलता से होता है। इस वजह से, उपभोक्ता अंतर्दृष्टि अक्सर एडवर्टाइजिंग और प्रमोशनल मटेरियल्स के लिए एक अच्छा मटेरियल बन जाता है।

विज्ञापन में इनसाइट

विज्ञापन में इनसाइट

विज्ञापन में इनसाइट — यह टार्गेट ऑडियंस के मार्केटिंग रिसर्च के आधार पर बनाया गया एक एडवर्टाइजिंग प्रोडक्ट या एडवरटाइजिंग कैंपेन होता है। इस संदर्भ में अंतर्दृष्टि का तात्पर्य यह है कि मार्केटर्स, क्लाइंट की ज़रूरतों को पहचानते हैं और उस समस्या का उपयुक्त समाधान सुझाते हैं।

व्यवहार में (उदाहरण के लिए, इंस्टाग्राम पर), आप अक्सर "हफ़्ते की इनसाइट" या "दिन की इनसाइट" टॉपिक के तहत पोस्ट देखते होंगे। दिन की इनसाइट — कोई प्रेरणादायक वाक्यांश, इमेज, वीडियो या उपयोगी मटेरियल्स की लिस्ट होती है। इनसाइट को कैसे लिखें, यदि आप इसे इस तरह से समझते हैं? इतना काफी है यदि आप कोई ऐसा दिलचस्प कोटेशन या मटेरियल खोजते हैं, जो सब्सक्राइबर को दिलचस्पी से सोचने और पोस्ट बनाने के लिए प्रेरित करे।

एडवर्टाइजिंग में, अंतर्दृष्टि विभिन्न कार्य कर सकती है। उदाहरण के लिए, किसी ब्रांड को अपने ऑडियंस के साथ संबंध बनाने में मदद करना। प्रेरक, उपयोगी वाक्यांश और कोटेशन नए क्लाइंट्स को आकर्षित करेंगे, ब्रांड की छवि बनाएंगे, ऑडियंस के साथ एकजुटता व्यक्त करेंगे, इत्यादी। लेकिन आपको इसे ब्रांड के प्रचार के लिए मुख्य उपकरण के रूप में उपयोग नहीं करना चाहिए: इससे कहीं अधिक महत्वपूर्ण है उपभोक्ता अंतर्दृष्टि को खोजना और तलाशना। 

संक्षेप में, हम कह सकते हैं कि मार्केटिंग और एडवर्टाइजिंग में अंतर्दृष्टि, मनोविज्ञान में अंतर्दृष्टि या जीवन में अंतर्दृष्टि के समान नहीं है। शिक्षण में भी, अंतर्दृष्टि की कई अलग-अलग समझ हैं।

शिक्षण में इनसाइट 

शिक्षण में इनसाइट

शिक्षण में इनसाइट का मतलब वास्तव में मनोविज्ञान जैसा ही है: स्टूडेंट के लिए, इनसाइट की स्थिति इस भावना से जुड़ी होती है कि उसने अध्ययन की जा रही मटेरियल को बहुत स्पष्ट रूप से समझ लिया है। इसका क्या मतलब है? सीखने की प्रक्रिया में, इनसाइट आपको किसी भी दिशा या विषय में जल्दी और कुशलता से महारत हासिल करने और प्रक्रिया का आनंद लेने की अनुमति देती है, क्योंकि इनसाइट का उदय हमेशा लंबे समय से प्रतीक्षित खोज के द्वारा राहत और खुशी की भावना के साथ होता है।

यही कारण है कि इनसाइट, आधुनिक शिक्षा में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, क्योंकि यह एक छात्र की तब भी मदद कर सकती है जब कोई किताब या शिक्षक भी उसकी मदद नहीं करते हैं। स्टूडेंट नियमित रूप से इनसाइट प्राप्त कर सकें इसके लिए, टीचर के द्वारा छात्रों को मटेरियल के साथ स्वतंत्र रूप से काम करने के लिए अधिक मौक़े प्रदान करने की ज़रूरत होती है।

उदाहरण के लिए, इनसाइट के बिना आत्म-विकास के कोर्सेज व्यावहारिक रूप से बेकार हैं, क्योंकि उन्हें स्टूडेंट को अपने विश्वदृष्टि और जीवन शैली को मौलिक रूप से बदलने की ज़रूरत होती है, जो ज़रूरी अंतर्दृष्टि के बिना असंभव है। यह सफल लोगों के उदाहरण से भी सिद्ध होता है, जिनमें से अधिकांश ने अंतर्दृष्टि प्राप्त करने के बाद ही किसी चीज़ पर निर्णय लिया है। शायद, प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन से वह उदाहरण दे सकता है जब उसने स्वयं इनसाइट प्राप्त की और गैर-मानक समाधान ढूंढे।

इनसाइट की स्थिति हम में से प्रत्येक के लिए उपलब्ध होती है, और इनसाइट को प्राप्त करने के लिए, आपको स्थिति को जाने देना होता है: सीधे समस्या को हल करने का प्रयास न करें, और अधिक जानकारी जमा करें, और फिर आराम करें और दिमाग को स्थिति से निकलने का एक नया और अधिक फ़ायदेमंद तरीका ढूँढने दें।

इंफ्लुएंसर

उत्पाद जीवन चक्र